“जल संरक्षण, जल गुणवत्ता एवम् स्वास्थ्य स्वच्छता” विषय पर दो दिवसीय प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजन

उत्तराखंड विज्ञान शिक्षा एवम् अनुसंधान केन्द्र (यूसर्क) द्वारा गोविंद वल्लभ पंत हिमालयी, पर्यावरण एवं सतत् विकास संस्थान (वन, पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय, भारत सरकार) के सहयोग से अलमोड़ा जिले के रानीखेत के समीप तुरिया सुयाल (पिलखोली ) गाँव में हिमालयन आर्गेनाइजेशन फॉर प्रोटेक्टिंग एनवायरनमेंट (होप ) संस्था व डी ए वी महाविद्यालय देहरादून के

USERC organized a programme in collaboration with Syahidevi Vikas Samiti, Shitlakhet at Suri ( Tarikhet block) , Almora

USERC organized a programme in collaboration with Syahidevi Vikas Samiti, Shitlakhet at Suri ( Tarikhet block) , Almora. 300 women participants and 50 + locals attended the programme. Chief guest of the programme was cabinet minister Smt Rekha Arya Ji. She appreciated the programme and said this is need of the hour. Nagar Palika adhyaksh

Recruitment for the post of RA and JRF

Applications are invited for following purely temporary and project based positions under National Mission on Himalayan Studies (NMHS) supported scheme “Rural Entrepreneurship and Value Chain Development for Bamboo and Ringal Artisans in Central Himalaya” for Research Associate (Himalayan Research Associate HRA- 01) and “Ecosystem Services and its Mainstreaming in Development Planning Process” for Junior Research

समर कैंप का आयोजन 31 मई से 9 जून

केंटोमन बोर्ड के अंतर्गत छावनी उच्च प्राथमिक विद्यालय, क्लेमन टाउन, में मानव संस्था द्वारा संचालित तरंग स्कूल फॉर डिसेबल्ड द्वारा विद्यार्थियों के लिए आयोजित समर कैंप का आयोजन 31 मई से 9 जून तक किया गया.विद्यार्थियों के लिए आयोजित इस कैंप में विभिन्न गतिविधियों के अंतर्गत“फन विथ साइंस” कार्यक्रम में उत्तराखंड विज्ञान शिक्षा एवं अनुसंधान

हिमालयन सोसाईटी ऑफ थैलेसीमिकस , गैप फाउंडेशन-जीनोमिस एंड पब्लिक हैल्थ फांउडेशन और उत्तराखंड विज्ञान एवं अनुसंधान केन्द्र-यूसर्क द्वारा 8 मई को अन्तर्राष्ट्रीय थैलेसीमिया दिवस संयुक्त रूप से डब्लू.आई.सी. परिसर में मनाया गया

हिमालयन सोसाईटी ऑफ थैलेसीमिकस , गैप फाउंडेशन-जीनोमिस एंड पब्लिक हैल्थ फांउडेशन और उत्तराखंड विज्ञान एवं अनुसंधान केन्द्र-यूसर्क द्वारा 8 मई को अन्तर्राष्ट्रीय थैलेसीमिया दिवस संयुक्त रूप से डब्लू.आई.सी. परिसर में मनाया गया। दुनिया में थैलेसीमिया के रोगियों की बढ़ती संख्या व इसके प्रभावी रोकथाम के मध्यनजर अन्तर्राष्ट्रीय थैलेसीमिया फैडरेशन ने 25 साल पहले अन्तर्राष्ट्रीय थैलेसीमिया

उत्तराखंड विज्ञान शिक्षा एवं अनुसंधान केंद्र द्वारा राजकीय इंटर कॉलेज चोरगलिया, कस्तूरबा गाँधी बालिका आवासीय विद्यालय, दसाईथल, गंगोलीहाट, पिथौरागढ़ एवं लीलावती पंत इंटर काॅलेज भीमताल में कार्यशाला का आयोजन

उत्तराखंड विज्ञान शिक्षा एवं अनुसंधान केंद्र द्वारा राजकीय इंटर कॉलेज चोरगलिया, कस्तूरबा गाँधी बालिका आवासीय विद्यालय, दसाईथल, गंगोलीहाट, पिथौरागढ़ एवं लीलावती पंत इंटर काॅलेज भीमताल में कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला का संचालन यूसर्क से आये तकनीकी विशेषज्ञ श्री ओम जोशी द्वारा किया गया।कार्यशाला में मुख्य वक्ता आई.टी. मुम्बई के प्रो0 राजकुमार पंत द्वारा

उत्तराखंड विज्ञान शिक्षा एवं अनुसंधान केन्द्र (यूसर्क) एवं हिमालयन ग्रामीण विकास समिति द्वारा दिनांक 4-6 मई 2019 को तीन दिवसीय साइंस आउटरीच कार्यक्रम का आयोजन

उत्तराखंड विज्ञान शिक्षा एवं अनुसंधान केन्द्र (यूसर्क) एवं हिमालयन ग्रामीण विकास समिति द्वारा दिनांक 4-6 मई 2019 को तीन दिवसीय साइंस आउटरीच कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए प्रख्यात भूगर्भ वैज्ञानिक पद्मभूषण प्रो0 के0एस0 वल्दिया ने विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए हिमालय की उत्पत्ति व संरचना पर विस्तार से प्रकाश डाला।

“जल संरक्षण, जल गुणवत्ता एवम् स्वास्थ्य स्वच्छता” विषय पर दो दिवसीय प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजन

उत्तराखंड विज्ञान शिक्षा एवम् अनुसंधान केन्द्र (यूसर्क) द्वारा गोविंद वल्लभ पंत हिमालयी, पर्यावरण एवं सतत् विकास संस्थान (वन, पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय, भारत सरकार) के सहयोग से पौड़ी स्थित एच.न.बी. गढ़वाल विश्वविद्यालय के बी. जी. आर. परिसर के सभागार में “जल संरक्षण, जल गुणवत्ता एवम् स्वास्थ्य स्वच्छता” विषय पर दो दिवसीय प्रशिक्षण कार्य शाला

विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विषय पर जी आई सी तेजम, मुनश्यारी, पिथौरागढ़ में कार्यशाला

उत्तराखंड विज्ञान शिक्षा एवं अनुसंधान केन्द्र यूसर्क देहरादून की ओर से विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विषय पर जी आई सी तेजम, मुनश्यारी, पिथौरागढ़ में कार्यशाला का आयोजन किया गया।