भारत रत्न स्व0 डा0 अब्दुल कलाम की चतुर्थ पुण्य तिथि के अवसर पर यूसर्क के सभागार में ‘कलाम को सलाम’ कार्यक्रम


भारत रत्न स्व0 डा0 अब्दुल कलाम की चतुर्थ पुण्य तिथि के अवसर पर यूसर्क के सभागार में ‘कलाम को सलाम’ कार्यक्रम

उत्तराखण्ड विज्ञान शिक्षा एवं अनुसंधान केन्द्र (यूसर्क) द्वारा भारत रत्न स्व0 डा0 अब्दुल कलाम की चतुर्थ पुण्य तिथि के अवसर पर यूसर्क के सभागार में भारतीय विज्ञान लेखक संघ उत्तराखण्ड प्रभाग तथा पहल के संयुक्त तत्वाधान में ‘कलाम को सलाम’ कार्यक्रम के अन्तर्गत भारत के पूर्व राष्ट्रपति डा0 कलाम को श्रृद्धांजलि प्रदान की गई। कार्यक्रम के अन्तर्गत एक विचार गोष्ठी ‘कलाम को सलाम’ विषय पर आयोजित की गई। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए डा0 कलाम के मित्र रहे प्रो0 धीरेन्द्र शर्मा ने डा0 कलाम के जीवन से सम्बन्धित महत्वपूर्ण जानकारियां तथा उनकी भारत को विकसित राष्ट्र बनाने की परिकल्पना पर अपने विचार रखे।
कार्यक्रम के मुख्य अतिथि डा0 कलाम के राष्ट्रपति भवन में सुरक्षा अधिकारी रहे श्री राधाकृष्ण पंत ने राष्ट्रपति भवन में डा0 कलाम की सादगीपूर्ण दिनचर्या, उच्च वैज्ञानिक सोच, समाज के उत्थान हेतु प्रयास आदि विषयों पर विस्तार से प्रकाश डालते हुये बताया कि डा0 कलाम भारत के भविष्य के लिए युवाओं में वैज्ञानिक सोच को जगाने के लिये हमेशा तत्पर रहते थे। श्री राधाकृष्ण पंत ने डा0 कलाम के ऊपर स्वयं के द्वारा रचित कविताओं का पाठ भी किया। पहल संस्था की डा0 कमला पंत ने डा0 कलाम के आर्दशों को दैनिक जीवन में अपनाने पर बल दिया।
कार्यक्रम का संचालन डी0बी0एस0 महाविद्यालय के पूर्व प्राध्यापक डा0 मुकुन्द नीलकण्ठ जोशी ने किया एवं धन्यवाद ज्ञापन यूसर्क के वैज्ञानिक डा0 ओम प्रकाश नौटियाल द्वारा किया गया। यूसर्क द्वारा प्रदेश के दूरस्थ विद्यालयों में छात्र-छात्रों में वैज्ञानिक अभिरुचि को बढ़ावा देने के लिये इनोवेटिव एण्ड टैलेन्ट मेन्टिरिंग नामक प्रतिभाखोज कार्यक्रम चलाया जा रहा है जिससे भविष्य में छात्र-छात्राआ मेंं डा0 कलाम जैसी प्रतिभाओं का विकास हो सकेगा।

Share to

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *